भारत का चमत्कार- धोबी घाट पर गीले कपड़ो से बनाई बिजली ???

आईआईटी खड़गपुर के मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के शोधकर्ताओं ने धूप में सूखते गीले कपड़ों से बिजली बनाने में सफलता हासिल की है. इस का प्रयोग धोबी घाट पर 300 वर्ग मीटर के क्षेत्र में सूख रहे 50 गीले कपड़ों पर किया गया।
इस पूरी प्रकिया में शोधकर्ताओं को लगभग 24 घंटे का समय लगा . इस दौरान एक एलईडी को 1 घंटे से ज्यादा देर तक जलाने के लिए 10 वोल्ट बिजली बनी

                               प्रतीकात्मक चित्र

  •  धोबी घाट पर 3000 वर्ग मीटर के एरिया में सुखते 50 गीले कपड़ो से बिजली बनाई .
  • आईआईटी खड़गपुर के शोधकर्ताओं ने एक घंटा एलईडी जलाने लायक बिजली बनाई .
  • एक डिवाइस 24 घंटे में एक उपकरण से 500 से 700 मिलीवोल्ट 40- 50 डिवाइस से 12- 13 वोल्ट बिजली बनी .

इस प्रकिया से बनती है बिजली .

विभाग के प्रोफ़ेसर चक्रवती के मुताबिक ,कपड़ो के धागे की बुनावट काफी सघन होती है . कपड़ो का सेल्यूलोज फाइबर एक तरह का चार्ज उत्पन्न करता है. इसे नमक के घोल में डालने पर यह फाइबर से होकर गुजरता हैं .आयोनाइज तैयार होता है आयन्स के लगातार गतिशील रहने से कंरट तैयार होता है जब इस वोल्टेज को निजी बाहरी रजिस्टर से जोड़ते हैं छोटे स्तर पर बिजली उत्पन्न होती है ।

    Leave a Reply