साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जीवन परिचय . बम विस्फोट के आरोप से संसद तक का सफर .

                               साध्वी प्रज्ञा ठाकुर।

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर एक ऐसा नाम जो हमेशा चर्चा में बना रहता है .चाहे वे मालेगांव बम विस्फोट के आरोप हो या उनका संसद तक पहुंचना हो .इनकी छवि कट्टर हिंदूवादी नेता कि है. जो अपने बयानों के चलते भी चर्चा में रहती हैं .जिस कारण हमेशा इनका विवादों से नाता रहा है .

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जन्म ,परिवार .

नाम – साध्वी प्रज्ञा ठाकुर .
जन्म – 2 फरवरी 1970 .
जन्म स्थान – दतिया ,(भिंड) मध्य प्रदेश .
पिता -डॉ० चंद्रपाल सिह .
माता – सरला देवी .
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जन्म 2 फरवरी 1970 को मध्य प्रदेश के भिंड में एक मध्यवर्गीय कुशवाहा राजपूत परिवार में हुआ था .
पिता चंद्रपाल सिंह ठाकुर एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक डॉक्टर थे और  प्राकृतिक जड़ी बूटियों से मरीजों का इलाज करते थे .
इतिहास में परास्नातक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर हमेशा से ही दक्षिणपंथी संगठनों से जुडी रहीं .वे विश्व हिंदू परिषद की महिला शाखा दुर्गा वाहिनी से जुडी थी .

उन्हें आंतकी आरोपों के लिए गिरफ्तारी का सामना करना पड़ा लेकिन विशेष राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA )   द्वारा मकोका धारा के तहत आरोप छोड़ने के बाद उन्हें जमानत दे दी गई.

  • 2002 साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जब वंदे मातरम जन कल्याण समिति का निर्माण किया ,इसके बाद वो स्वामी अवधेशांनद के संपर्क में आई . उन्होंने नेशनल जागरण मंच भी बनाया .
  • 29 सितंबर 2008 को मालेगांव में हुए बम धमाके में 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे, ये धमाका एक मस्जिद में मोटर बाइक में रखे बम की वजह से हुआ था और ये मोटरबाइक साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम पर थी . जिसमे साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को मुख्य आरोपी बनाया गया .आरोप के कारण पुरे 10 साल जेल में रही और 2017 में जमानत पर रिहा हुई.
  • कहा जाता है कि बीजेपी के विधायक सुनील जोशी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा था ,लेकिन दिसबंर ,2007 में सुनील जोशी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. ऐसे में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के अतिरिक्त सात लोगों पर सुनील जोशी की हत्या का केस लगा था और 2017 में उन्हें सभी चार्च से मुक्त कर दिया गया.

राजनीतिक जीवन-

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने 17 अप्रैल 2019 को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की और पार्टी ने उन्हें स्त्रहवी लोकसभा के सदस्य के लिए भोपाल लोकसभा कि टिकट दिया ,जहां उन्होंने कांग्रेस के दिग्विजय सिंह को हराकर भोपाल से सांसद चुनी गईं.

शौक –

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को ट्रेवल करना ,मोटरबाईक चलाना और किताबें पढ़ना पसंद है .

Leave a Reply