Frederic chopin best quotes ; Frederic Chopin quotes in hindi

  Frederic Chopin एक प्रसिद्ध पोलिश और फ्रांसीसी संगीतकार थे जिन्होंने 7 साल की उम्र में अपनी पहली रचना प्रकाशित की और एक साल बाद प्रदर्शन करना शुरु किया. 1832 में , वह पेरिस चले गए, उच्च समाज के साथ समाजीकरण किया और उन्हें एक उत्कृष्ट पियानो शिक्षक के रुप में जाना जाता है. उनकी पियानो रचना अत्यधिक प्रभवशाली थी .       

             

                            
(1) sometimes I can only groan ,and suffer,and pour out my despair at the piano;

( कभी – कभी मैं केवल कराह.सकता हूं ,और पीडि़त हो सकता हूं,और पियानो पर अपनी निराशा को बाहर निकाल सकता हूं .

(2) simplicity is the final achievement,after one has a vast quantity of notes and more notes, it simplicity that emerges as the crowing reward of art.

( सादगी अंतिम उपलब्धि है, एक के बाद एक बड़ी मात्रा में नोट्स और अधिक नोट्स खेले हैं, यह सरलता है जो कला के मुकुट इनाम के रुप में उभरती है.) 

(3)Man is never always happy, and very often only a brief period of happiness is granted him in this world,so why escape from this dream which can not last long.

(इंसान हमेशा खुश नहीं रहता है,और बहुत बार केवल खुशी की एक संक्षिप्त अवधि उसे इस दुनिया में दी जाती है,इसलिए इस सपने से बचो जो लंबे समय तक नहीं रह सकता है.)

(4) oh, how miserable it is to have no one to share your sorrows and joys, and, when your heart is heavy, to have no soul to whom you can pour out your woes.

(ओह, कितने दुख की बात है कि आपके दुखों और खुशियों को साझा करने करने के लिए कोई नहीं है ,और जब आपका दिल भारी है, तो कोई आत्मा नही है जिसके लिए आप अपना कहर ढ़ा सके .)

(5) I wish I could throw off the thoughts which poison my happiness,but I take a kind of pleasure in indulging them.

(मेरी इच्छा है कि मैं उन विचारोंं को छोड़ हूं जो मेरी खुशी में जहर घोलते हैं ,लेकिन मैं उन्हें भोगने में एक तरह का आनंद लेता हूं .)

(6) the crowd intimidates me,it breath suffocates me .I feel paralyzed by its courious look ,and unknown faces make me dumb.

(भीड़ मुझे भयभीत करती है ,यह दम घुटता हैं. मुझे अपने जिज्ञासु रुप से लकवा लगता है,और अज्ञात चेहरे मुझसे गंभीर हो सकते हैं.)

(7) As long as I have health and strength, I will gladly work all my duys.

( जब तक मेरे पास स्वास्थ्य और ताकत है, तब तक मैं खुशी -खुशी अपने सारे काम करुंगा ।)

(8) I shall create a new world for my self.

(मैं अपने लिए एक नई दुनियां बनाऊंगा )

(9) Oh, how hard it must be to die anywhere but in one’s birthplace.

(ओह, किसी के जन्मस्थान में कही भी मरना कितना कठिन हो होता है .)

(10) Vienna is a handsome,lively city , and pleases me exceedingly.

(वियना एक सुदंर ,जीवंत शहर है ,और मुझे अत्याधिक प्रसन्न करता है ) 

(11) If the newspapers cut me up so much that I shall not venture before the world again, I have resolved to become a any thing else, and I should, at any rate,still be an artist .

(अगर अखबारोंं ने मुझे इतना काट दिया कि मैं फिर से दुनिया के सामने उधम नही करुगा ,तो मैने एक हाउस पेंटर बनने का संकल्प लिया है ,जो किसी भी चीज के रुप में आसान होगा ,और मुझे किसी भी दर पर ,अभी भी एक कलाकार होना चाहिए.)

Leave a Reply