रजब तैयब इरदुगान का जीवन परिचय , Recep Tayyip Erdogan biography in hindi….

जो नेता अपने देश की जनता का ध्यान रखें और जनता का दु:ख अपना दुख समझें तो फिर जनता भी अपने नेता पर मर मिटने को तैयार रहते हैं .

2003 से पहले टर्की पर IMF और वर्ल्ड बैंक का कर्जा बढता ही जा रहा था . जनता भी महगाई , पानी की किल्लत , प्रकृतिक गैस जैसी परेशानी से त्रस्त थी . 2003 में एक नाम अस्तित्व में आया ” रजब तैयब इरदुगान ” जिसने देश की छवि बदल दी .

         रजब तैयब इरदुगान का जीवन परिचय.

नाम – रजब तैयब इरदुगान .

जन्म – 26 फरवरी , 1954 .

स्थान – कासिमपाशा , इस्ताम्वुल ,टर्की .

शिक्षा – मरमार विश्वविद्यालय .

पत्नी – एमिने गुलबरन .

बच्चे – अहमद बिलाल , नेकमेटिन बिलाल ,सुमेपे इरदुगान .

राजनीति में आने से पहले इरदुगान एक फुटबॉल प्लेयर थे . वह कासिमपासा के लिए फुटबॉल खेलते थे . खिलाड़ी के तौर पर उन्होंने कभी नही सोचा था कि वह राजनीति मे आएगें और एक दिन देश के प्रधानमंत्री बनेगें .

राजनीतिक सफर – 

फुटबॉल खेलने के दौरान उनका मन देश की राजनीति और देश के हालातों को लेकर गंभीर रहने लगा , तथा उन्होंने राजनीतिक दल ” इस्लामिस्ट वेलफेयर के सदस्य बन गए . उन्होंने अपना पहला चुनाव 1994 में इस्ताम्बुल के मेयर पद के लिए लड़ा और जीत कर इस्ताम्बुल के मेयर बने .

भाषण की वजह से जेल – 

1998 में एक भाषण के दौरान ,इरदुगान ने अपने भाषण के दौरान सरकार के धार्मिक दृष्टिकोण को बढ़ावा देने वाली एक कविता पढ़ी . इसके लिए उनकों राजनीतिक दफ्तर से प्रतिबंधित कर दिया . इसके बाद उनको चार महीने के लिए जेल में भेज दिया गया .
जेल से वापस आने के बाद उन्होंने इस्लामिस्ट पार्टी को छोड़ दिया और खुद की पार्टी बनाई .

2001 मे एकेपी पार्टी का उदय – 

रजब तैयब इरदुगान ने 2001 में खुद की राजनीतिक दल ( एकेपी ) का गठन किया . साल 2002 में हुए चुनावों में एकेपी ने शानदार जीत हासिल की . इस जीत के बाद इरदुगान ने पार्टी के सह – संस्थापक अब्दुल गुल को प्रधानमंत्री बनाया .
इसके बाद 2003 में हुए उप चुनाव में जीत हासिल करने के बाद इरदुगान देश के राष्ट्रपति बने .

देश के बदले हालात – 

दरदुगान के राष्ट्रपति बनने के बाद देश के हालातों में सुधार आना शुरु हो गया . सबसे पहले जनता की मूलभूत सुविधाओं पर ध्यान देकर उनको सुधारा गया . इसके बाद टर्की साफ पानी ,प्रकृतिक गैस की परेशानी को दूर कर नए रोजगार पर ध्यान दिया गया .

ग्रीन कार्ड – 

टर्की की जनता के लिए ग्रीन कार्ड बनाए गए, जिसके बाद कोई भी बीमार व्यक्ति किसी भी अस्पताल में फ्री इलाज करा सकता है .

IMF , वर्ल्ड बैंक का कर्ज – 

दरदुगान जब देश के राष्ट्रपति बने तो टर्की 23.5 अरब डॉलर का भारी भरकम कर्जा था , इरदुगान ने राष्ट्रपति बनने के बाद ना सिर्फ टर्की का 23.5 अरब डॉलर का कर्जा चुकाया , बल्कि IMF को कर्ज लेने की पेशकश की .

एयरलाइन्स –

इरदुगान के राष्ट्रपति बनने के बाद टर्की की एयरलाइन्स को दुनिया की सतवें नंबर की सबसे बड़ी एयरलाइन्स बन गई.

सम्मान – 

इरदुगान को देश के अंदर ही नही देश के बहार भी सम्मान से नवाजा गया . पाकिस्तान ने  अक्टूबर 2009 में देश के सर्वोच्च सम्मान ” निशान ए पाकिस्तान ” से नवाजा गया .
फरवरी 2014 को ईरान और दक्षिण कोरिया ने भी अपने देश के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा .

देश में टैंक लेकर निकले सैनिक –

15 जुलाई 2016 को सैनिक शासन के लिए और इरदुगान को तटस्थ करने के लिए के लिए इस्ताम्बुल कूच करने लगी . लेकिन जनता के दिलो मैं बसने वाले इरदुगान के लिए जनता सड़को पर टैंको के आगे लेट गई , और आर्मी का यह मिशन जनता ने कामयाब नही होने दिया .

Leave a Reply