Safin hassan ips biography in hindi , साफिन हसन का जीवन परिचय ..

           जिंदगी वह नही है जो आपको मिलती है ,

            जिंदगी वह है जो आप बनाते हो.

यह बात देश के सबसे युवा  IPS अधिकारी साफिन हसन पर एकदम सटीक बैठती हैं . साफिन हसन 22 साल की उम्र में 23 दिसंबर को पदभार ग्रहण करेगें .

नाम – साफिन हसन .

पिता – मुस्तफा हसन .

माता – नसीम बानो .

पद- IPS अधिकारी .

उपलब्धि – देश के सबसे युवा अधिकारी .

परिचय – 

” साफिन हसन बताते हैं कि उनके पिताजी उनसे एक बात बोलते थे कि जीवन में कोई भी काम अटकेगा नही . अगर आप उसे नेकी और इमानदारी के साथ कर रहे है तो “
साफिन हसन राजकोट ,गुजरात के रहने वाले है . हसन का बचपन गरीबी में बिता ,हसन के माता – पिता हीरा तराशने का काम करते थे ,लेकिन पढ़ाई का खर्च पूरा ना होने पर साफिन हसन की मां ने होटलों और शादी समारोह में रोटी बेलने का काम करने लगी . साफिन के अनुसार मां सुबह 2-3 बजे उठ कर 7-8 बजे तक रोटी बेलती थी . पिता भी हीरा तराशने के अलावा ठेला भी लगाते थे जिससे बच्चे की पढ़ाई का खर्च पूरा हो सके . मां – बाप की मेहनत रंग लाई और बेटा आईपीएस अधिकारी बन गया .
“साफिन हसन के अनुसार बचपन में उनके सभी दोस्तों के पास साइकिल थी . मगर उनके पास साइकिल नहीं थी .जिससे उन्हें बहुत बुरा लगता था . इन्हीं खराब  पर परिस्थितियोंं ने साफिन हसन के अंदर कुछ कर गुजरने का हौसला पैदा किया .

कहां से मिला मकसद – 

साफिन हसन ने बस ऐसे ही एक शख्स पूछा कि डीएम कैसे बनते है , तो उस व्यक्ति ने जबाब दिया कि डीएम कोई भी बन सकता है .उसे बस एक एग्जाम पास करना होता है .यही वो दिन और ये जबाव था जिसे सुनकर साफिन हसन को उनकी जिंदगी का मकसद मिल गया था .

लोगों ने बढ़ाया मदद का हाथ –

साफिन हसन ने स्कूल की पढ़ाई के बाद नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग (एनआईटी) में दाखिला लिया था . साफिन के अनुसार जब वो हाईस्कूल में थे तब उनके प्रिंसिपल ने 80 हजार रुपये की फीस माफ कर दी . इसके अलावा जब वो दिल्ली में थे तो गुजरात के पोलरा परिवार ने दो साल तक उनका खर्च उठाया था वही लोग उनकी कोचिंग की फीस देते थे .
इन्हें भी पढ़े –

एग्जाम से पहले साफिन हसन का एक्सीडेंट- 

साफिन हसन जब अपना यूपीएससी का पहला अटेंप्ट दे रहे थे, तो उनका एक्सीडेंट हो गया.था . हालाकि ,जिस हाथ से वह लिखते थे वह सही सलामत था . एग्जाम देने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ा .

साफिन हसन का चयन – 

साफिन हसन ने 2017 यूपीएससी परीक्षा में 570 रैंक हासिल की और मात्र 22 साल की उम्र में आईपीएस बने .
साफिन हसन 23 दिसंबर को पुलिस अधीक्षक के रूप में पदभार संभाललेंगे .

साफिन हसन की कलम से – 

जब मुसीबते आती है तभी तकदीर चमकती है . मुसीबतों से घबराकर वापस लौटने के बजाय कड़ी मेहनत से आगे बढ़ना चाहिए.
” साफिन हसन कहते है कि  एक सीख चाणक्य हम सब को दे गए .जब धनानंद की बेटी से चंद्रगुप्त को प्यार हो गया था जब ये बात  चाणक्य को पता चली तो उन्होंने चंद्रगुप्त को उससे दूर करने को कहा. तब चंद्रगुप्त ने चाणक्य से पूछा, भारत का सम्राट बनने के लिए कितना त्याग देना होगा .तब चाणक्य ने कहा ,अगर यह बिना त्याग के ऐसे ही मिल जाता तो , कोई भी भारत का सम्राट बन जाता .

साफिन हसन का सपना – 

साफिन हसन अपने गांव में एक शानदार रेजिडेंशियल स्कूल खोलने का है जिससे गरीब बच्चोंं को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिल सके .
इन्हें भी पढ़े –


One Comments

  • Unknown

    October 4, 2020

    Super sir

Leave a Reply