Best emotional quotes

एक अजीब सी वेताबी है तेरे बिना रह भी लेते हैंं और रहा भी नही जाता . 

 जो लोग दूसरों की आंखों में आंशु लाते है , वो क़्यो भूल जाते है की उनके पास भी दो आंखे हैंं .

 सबसे ज्यादा गुस्सा उस वक्त आता है जब कोई खुद गलत होकर भी आपको गलत साबित करने की कोशिश करें.

 सारे सबक जिंदगी में नही मिलते यारों , कुछ सबक जिंदगी भी सिखाती है .

 मेरी जेब में जरा सा छेद क्या हो गया , सिक्कों से ज्यादा तो  रिश्ते गिर गए .

 दीमकों को पढ़ना नही आता , वो चाट जाती हैं पूरी किताब .

 तू ही बता ऐ दिल तुझे समझाऊ कैसे , जिसे चाहता है तू उसे नजदीक लांऊ कैसे , यूं तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा मगर उस एहसास.को ये एहसास दिलांऊ कैसे .

 पा लेने की खुशी और खो देने का डर बस इतना ही है जिंदगी कि सफर .

 तकलीफ होने पर जो व्यक्ति सबसे पहले याद आए वो जिंदगी का सबसे कीमती इंसान होता है .

 आंसू चाहे इंसान के हो या जानवर के , ये तभी बाहर आते है जब दिल में बहुत दर्द होता है .

 कदर कर लो उन लोगों की जो तुम्हें बिना मतलब चाहते हैं क्योंंकि दुनिया मेंं ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज्यादा है .

 लोग अक्सर मुझसे कहते हैं बदल गए हो तुम , मैं भी मुस्कुरा कर कहता हूं कि टूटे हुए फूलों का रंग अक्सर बदल जाया करता है .

 कुछ रिश्ते टूट तो जाते है पर ख़त्म नही होते .

 मौसम बहुत सर्द है ऐ दिल चलोंं कुछ ख्वाहिशों को आग लगाये .

 खुदा ने बड़े अजीब से दिल के रिश्ते बनाए है सबसे ज्यादा वही रोया है जिसने ईमानदारी से निभाए है .

 छोड़ दो ये बहाने जो तुम करते हो , हमें भी अच्छे से है मालूम मजबूरियां तभी आती हैं जब दिल भरते हैं .

 मुद्दतें हो गयी है चुप रहते – रहते , कोई सुनता तो हम भी कुछ कहते ..

 पीठ हमेशा मजबूत रखनी चाहिए क्योंकि शाब्बासी और धोखा दोनों पीछे से ही मिलते हैं .

 मैने एहसास के धागे में पिरोया है तुझे टूट अगर हम गए तो बिखर तुम भी जाओगें .

 अगर किसी की इज्जत नही करना चाहते हैं तो मत कीजिए , लेकिन चार लोगों के साथ बैठ कर किसी की बेज्जती तो मत कीजिए .

 शायद : कोई ख्वाहिश रोती रहती है तभी मेरे अंदर बारिश होती रहती है .

 डर सा लगता है अब रिश्तों से ,.लोग थोड़ा देकर सब कुछ ले जाते है .

 बड़ी मुश्किल से सीखा है खुश रहना उसके बगैर ,अब सुना है ये बात भी उसे परेशान करती है.

 जिंदगी में अगर बुरा वक्त नहीं आता तो अपनों में छिपे हुए गैर और गैरों में छिपे हुए अपनों का कभी पता ना चलता .

 आप किसी से जितना ज्यादा अपनी भावनाओं को छिपाओंगे , उस व्यक्ति के लिए उतना ही मुश्किल होगा आपको समझना .

 फिसलती ही चली गई एक पल रुकी भी नही , अब जा के महसूस हुआ रेत के जैसे है जिंदगी .

Leave a Reply