किम यो -जोंग का जीवन परिचय ..

उत्तर कोरिया विश्व का ऐसा अनोखा देश है जिस के बारे में कुछ भी कहना आसान नहीं होता है . यह देश अपने आप में एक रहस्मय देश है. उत्तर कोरिया दुनिया का एक मात्र ऐसा देश है जो किसी भी अंतरराष्ट्रीय नियम और कायदे -कानून को नहीं मानता .

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के स्वास्थ्य को लेकर अटकले लग रही हैं .इस बीच यह भी संभावना व्यक्त की जा रही है कि यदि किम जोंग उन की सेहत में जल्द सुधार नहीं होता है तो उनकी बहन किम यो -जोंग सत्ता संभाल सकती है , कौन है किम यो -जोंग .

परिचय –

नाम     – किम यो-जोंग .

जन्म    – 26 सितंबर 1988 .

पिता     –  किम जोंग इल .

माता      –  यंग ही .

भाई       – किम जोंग उन.

शिक्षा     – स्विट्ज़रलैंड .

किम यो -जोंग –

किम यो-जोंग उत्तर कोरिया के पूर्व तानाशाह किम जोंग इल की सबसे छोटी बेटी है ,तथा किम जोंग उन की छोटी बहन है. किम यो-जोग की माता का नाम यंग ही है .
उत्तर कोरिया में किम जोंग उन की बहन किम यो-जोंग को देश का दूसरा सबसे अहम चेहरे के तौर पर देखा जाता है . 11 अप्रैल 2020 को किम यो-जोंग को उत्तरी कोरिया के पोलित ब्यूरो में अल्टरनेट सदस्य के रूप में शामिल किया गया .किम यो-जोंग देश के बाहर भी उत्तरी कोरिया का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं . किम यो-जोंग को पिछले दो सालों में वह किम जोंग उन के आसपास अक्सर देखी जाती हैं .
ऐसा समझा जाता है कि किम जोंग उन की बहन उनसे करीब 4 साल छोटी हैं . दोनों ने स्विट्ज़रलैंड में ही पढ़ाई की है .

किम यो-जोंग की उपलब्धियांं –

  • 2018 विंटर ओलंपिक में देश का नेतृत्व किया ,किम यो-जोंग  ” पायोंग ” शीतकालीन ओलंपिक खेलों के सिलसिले में एक हफ्ते के लिए दक्षिण कोरिया की यात्रा पर गई . किम यो-जोंग उत्तरी कोरिया परिवार की पहली सदस्य है ,जो दक्षिण कोरिया की यात्रा पर गई थी .
  • 2017 से ही वह अपने भाई की इमेज बदलने की कोशिशें कर रहीं थीं. किम यो-जोंग को बहुत ही कम मौकों पर सार्वजनिक तौर पर देखा गया था .
  • डोनाल्ड ट्रंप के साथ दो बार आयोजित समिट में भी किम जोंग उन की बहन ने उनका साथ दिया था .
  • किम यो-जोंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तारीफ की थी क्योंंकि ट्रंप ने किम जोंग उन को पत्र लिखकर कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि दोनों देश अच्छे  द्विपक्षीय संबंध कायम रखेंगे .
  • 11 अप्रैल 2020 को किम यो-जोंग को नार्थ कोरिया के पोलित ब्यूरो में अल्टरनेट सदस्य के रूप में दोबारा शामिल किया गया .
  • 15 अप्रैल को किम के दादा किम सुंग का जन्म दिन और नार्थ कोरिया का स्थापना दिवस था . किम आमतौर पर इस मौके पर होने वाले समारोह में वह हिस्सा लेते आए हैं मगर इस वर्ष वह समारोह से गायब थे . उनकी जगह उनकी बहन किम यो-जोंग ने समारोह में हिस्सा लिया था .
  • किम जोंग उन ने अपनी बहन कोसाउथ कोरिया के बारे में बयान लिखने और उसे बोलने की मंजूरी दी है .
  • किम यो-जोंग मिलिट्री अफेयर्स से जुड़ी हुई नहीं है मगर उन्हें हर बात की जानकारी है .
  • उत्तर कोरिया औरदक्षिण कोरिया का तनाव कम करने का श्रेय किम यो-जोंग को दिया जाता है .

किम यो-जोंग के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य-

  • किम जोंग उन की बहन किम यो-जोंग पहले से ही उत्तर कोरिया सरकार में प्रभावी भूमिका निभा रही हैं .
  • उत्तर कोरिया के मिलिट्री एक्सरसाइज का जब दक्षिण कोरिया ने विरोध किया तो किम यो-जोंग ने पहली बार सार्वजानिक बयान जारी करके दक्षिण कोरिया के बारे में कहां था . ” डरे हुए कुत्ते की तरह भौंंक रहा है ” 
  • किम यो-जोंग का किम जोंग उन के साथ डायरेक्ट एक्सेस है और किम यो-जोंग ,उन पर गहरा प्रभाव डालती हैं.
  • किम जोंग उन और उनकी बहन दोनों की ही पढ़ाई स्विट्ज़रलैंड में हूई है .
  • उत्तर कोरिया के अंदर किम जोंग उन की साफ छवि बनाने के पीछे किम यो-जोंग का ही दिमाग है ,इसके बदले में किम जोंग उन अपनी बहन पर पूरा भरोसा करते हैं .
  • किम यो-जोंग अपने भाई की सबसे वफादार है और विदेशियों तथा दक्षिण कोरिया से डील करती है .
  • जानकारों के मुताबिक किम की बहन किम यो-जोंग भी अपने भाई की तरह तानाशाह है और बाकी गुण भी भाई जैसे ही है .

Leave a Reply