विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का इतिहास , और इसके प्रमुख कार्य .

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) विश्व के देशों के स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं पर आपसी सहयोग एंव मानक विकसित करने की संस्था है .

विश्व स्वास्थ्य संगठन के194 सदस्य देश तथा दो संबद्ध सदस्य हैं .यह संयुक्त राष्ट्र संघ की एक अनुषांगिक इकाई है .

1948 में 7 अप्रैल , के दिन संयुक्त राष्ट्र संघ की एक अन्य सहयोगी और संबद्ध संस्था के रूप में दुनिया के194 देशों ने मिलकर स्विट्जरलैंड के जेनेवा में विश्व स्वास्थ्य संगठन की नींव रखी थी. इसका उद्देश्य संसार के लोगों के स्वास्थ्य का स्तर ऊंचा रखना है. विश्व स्वास्थ्य संगठन को सर्वाधिक सफल संयुक्त राष्ट्र अभिकरणों में से एक माना जाता है . यह अंतरिम स्वास्थ्य कार्यो से सम्बंधित समन्वयकारी प्रधिकरण के रुप में कार्य करता है तथा स्वास्थ्य मामलों में सक्रिय सहयोग को प्रोत्साहित करता है . इसके कार्यक्रमोंं में स्वास्थ्य सेवाओं का विकास , रोग निवारण व नियंत्रण , पर्यवरणीय स्वास्थ्य का संबर्द्धन ,स्वस्थ मानव शक्ति विकास तथा जैव -चिकित्सा , स्वास्थ्य सेवाओं , शोध व स्वास्थ्य कार्यक्रमोंं का विकास एंव प्रोत्साहन शामिल है.

WHO सदस्य देशों को उन स्वास्थ्य सेवाओं के लिए स्वास्थ्य देखभाल सुनिश्चित करना, मातृ एंव बाल स्वास्थ को सवंर्धित करना, परिवार नियोजन , पोषण , संक्रामक रोगों की रोकथाम दवाओं व टीको का उत्पादन व गुणवत्ता नियंत्रण तथा शोध प्रोत्साहन शामिल है.

WHO विश्व के सभी देशों को स्वास्थ से संबंधित सहायता प्रदान करती है और दुनिया भर में स्वास्थ्य से संबंधित सभी पहलुओं पर अपना योगदान देती है और उनके हल निकालने के लिए महत्पूर्ण कार्य करती है . WHO की सेवा दुनिया की सभी जगहों पर फैली हुई है .WHO के पास दुनिया का सबसे बड़ा Blood Bank है दुनिया की कई बीमारी जैसे – हैजा ,मलेरिया ,चेचक ,वायरस आदि बीमारियों को रोकने के लिए WHO अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है .

WHO  द्वारा वर्ष 2000 तक सभी के लिए स्वास्थ्य नामक मुख्य सामाजिक लक्ष्य की प्रप्ति हेतु राष्ट्रीय ,क्षेत्रीय व भूमंडलीय रणनीतियों को प्रोत्साहित किया गया . WHO ने टीकाकरण कार्यक्रमोंं में विशेष सफलता प्राप्त की है .

छोटी चेचक टीकाकरण अभियान द्वारा छोटी चेचक को पूरी तरह से उन्मूलित कर दिया गया है. संगठन एड्स-विरोधी प्रयासो को भी समन्वित करता रहा है . WHO द्वारा कैंसर , ह्रदय रोग, व मस्तिष्क शोध जैसी गैर -संचारी बीमारियों के विषय में भी शोध कार्य को सघन किया है . WHO ने दस प्रमुख जानलेवा बीमारियों की पहचान की है जिनमें कैंसर , सेरिब्रोवेस्क्यूलर ,डिजीज , एक्यूट लोअर रेस्पापरेटरी इंफेक्शन, पेरीनेटल कंडीशंस ,टी.बी काशेनरी हार्ट डिजीज, क्रॉनिक ऑब्स्ट्रंत्त्वि पल्ममोनरी डिजीज ,आतिसार डिसेन्टरी तथा एड्स शामिल है .

WHO का उद्देश्य –

(1) WHO का लक्ष्य दुनिया भर के लोगों के लिए बेहतर स्वस्थ भविष्य बनाना है .

(2) इसका उद्देश्य 194 से अधिक देशों में कार्यालय के माध्यम से काम करना है .

(3) यह संक्रमित बीमारी जैसे – एचआईवी ,कैंसर ,ह्रदय रोग जैसी बीमारियों से दुनिया को सुरक्षित रखने का प्रयास करते हैं .

(4) WHO का उद्देश्य स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत बनाने में सरकार की सहायता प्रदान करना है .

(5) यह प्रशासनिक और तकनीकी सेवाओं की स्थापना और रख रखाव जैसे -महामारी , विज्ञान और सांख्यकीय आदि सेवाएं प्रदान करना है .

(6) पोषण , आवास , स्वच्छता आदि कार्यो में सुधार करना .

(7) स्वास्थ के लिए सभी लोगों के बीच एक सूचित सार्वजनिक राय विकसित करना .

(8) वैज्ञानिक और पेशेवर समूहों के बीच सहयोग को बढ़ावा देना है .

WHO का योगदान –

(1) ये देश के बाहर किसी बीमारी के फैलने के बारे में मेजबान सरकार को सूचित करते हैं और उनके साथ मिलकर कार्य करते हैं .

(2) ये संबंधित देश की सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन के बीच प्राथमिक संपर्क बिंदु होते है .

(3) ये स्वास्थ्य मामलों पर तकनीकी सहायता प्रदान करने के साथ साथ प्रासंगिक वैश्विक मानकों और दिशा -निर्देशोंं को साझा करते हैं एव सरकार के अनुरोधों तथा आवश्यक मागों को WHO के अन्य स्तरों तक पहुंचाते हैं .

(4) ये देश में स्थित अन्य संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के कार्यालयों को सार्वजानिक स्वास्थ्य पर सलाह एव मार्गदर्शन प्रदान करते हैं 

(5) WHO संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) के सहयोग से सभी बच्चोंं के लिए प्रभावी टीकाकरण सुनिश्चित करने हेतु एक  विश्वव्यापी आभियान का नेतृत्व कर रहा है .

भारत और WHO –

(1) WHO के 194 देश सदस्य हैं जिनमेंं भारत भी है ,भारत में WHO का मुख्यालय दिल्ली में है .

(2) भारत 12 जनवरी , 1948 को WHO का सदस्य बना .

(3) वर्ष 1967 में भारत में दर्ज किये गए चेचक के मामलों की कुल संख्या विश्व के कुल मामलों की लगभग 65% थी 

(4) WHO और भारत सरकार के समन्वित प्रयास से वर्ष 1977में चेचक उन्मूलन किया गया .

(5) विश्व बैंक की वित्तीय एवं तकनीकी सहायता से WHO द्वारा वर्ष 1988 में प्रारम्भ की गई वैश्विक पोलियो उन्मूलन पहल के संदर्भ में भारत ने पोलियो रोग के खिलाफ मुहिम की शुरुआत की .

WHO का संक्षिप्त परिचय-

(1) विश्व स्वास्थ्य संगठन की स्थापना वर्ष 1948 में हुई थी .

(2) WHO का मुख्यालय जिनेवा , स्विट्ज़रलैंड में स्थित है .

(3) वर्तमान में 194 देश WHO के सदस्य हैं 150 देशों में इसके कार्यालय होने के साथ साथ इसके क्षेत्रीय कार्यालय भी है .

(4) यह एक अंतर -सरकारी संगठन है तथा समान्यतः अपने सदस्य राष्ट्रों के स्वास्थ्य मंत्रालयों कै सहयोग से कार्य करता है .

(5) WHO साक्षय -आधारित नीति विकल्पों को स्पष्ट करता है देशों को तकनीकी सहायता प्रदान करता है तथा स्वास्थ संबंधी रुझिनों की निगरानी और मूल्यांकन करता है .

(6) WHO ने 7 अप्रैल ,1948 से कार्य आरंभ किया, अत: 7 अप्रैल को प्रतिवर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है .

Leave a Reply