फिल्म निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप की जीवनी .

अनुराग कश्यप एक भारतीय फिल्म निर्माता , निर्देशक और पटकथा लेखक हैं . अनुराग कश्यप फिल्मों में नए नए प्रयोग करने के लिए जाने जाते हैं. अनुराग कश्यप की पहचान बॉलीवुड में लीक से हटकर फिल्म बनाने के लिए जाने जाते हैं. अनुराग कश्यप एक बेहतरीन निर्माता ,निर्देशक के साथ सामाजिक कार्यो में भी अपनी पूरी भागीदारी देते है . 

अनुराग गैर सरकारी संगठन , आंगन के बोर्ड के सदस्य के रुप में काम करते हैं जो भारत में कमजोर बच्चोंं की मदद करता है . शिक्षण के दौरान शुरु हुआ नुक्कड़ नाटक का शौक अनुराग को मुंबई तक ले गया . आज बॉलीवुड में अनुराग कश्यप की पहचान जनता के चाहते निर्देशक के रूप में है . उनकी ज्यादातर फिल्मे सामाजिक मुद्दे से जुड़ी होने के कारण विवादों में रहती है .

नाम           –     अनुराग कश्यप .

जन्म          –     10 सितंबर 1972 .

स्थान         –     गोरखपुर ,उत्तर प्रदेश .

पिता          –     प्रकाश सिंह .

भाई           –     अभिनव कश्यप .

बहन          –      अनुभूति कश्यप .

वैवाहिक स्थिति – आरती बजाज ( 2003- 2009) 

                       – कल्कि कोचलिन (2013 -2015) 

प्रारंभिक जीवन –

फिल्म निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप का जन्म 10 सितंबर 1972 को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में हुआ था . अनुराग कश्यप का बचपन गोलखपुर की गलियों में बीता . अनुराग के पिता प्रकाश सिंह उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के मुख्य अभियंता के पद पर कार्यरत थे तथा वारणसी के पास सोनभद्र जिले में ओबरा ताप विघुत गृह में कार्यरत थे . घर पर अनुराग कश्यप का साथ देने के लिए भाई अभिनव कश्यप और बहन अनुभूति कश्यप थे .

 शिक्षा – 

    अनुराग ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा ग्रीन स्कूल देहरादून से प्राप्त करने के बाद अनुराग कश्यप को 8 साल की उम्र में ग्वालियर के सिंधिया स्कूल भेज दिया गया तथा आगे की पढ़ाई पूरी की .
उच्च शिक्षा के लिए अनुराग कश्यप दिल्ली आ गए और हंसराज कॉलेज में जीव विज्ञान की पढा़ई के लिए दाखिला ले लिया . अनुराग ने 1993 में हंसराज कॉलेज से स्नातक की डिग्री प्राप्त की .

वैज्ञानिक बनना चाहते थे अनुराग – 

ग्वालियर के सिंधिया कॉलेज से अपनी शिक्षा के दौरान उनका मन जीव वैज्ञानिक बनाने तक इसका गहनता से अध्ययन करने का था .इसलिए उन्होंने हंसराज कॉलेज में अपना विषय जीव विज्ञान चुना .

नुक्कड़ नाटकों ने बदला विचार –

हंसराज कॉलेज में वैज्ञानिक बनने का सपना लिए अनुराग कश्यप के नुक्कड़ नाटकों ने उनके विचार बदल दिए . आखिरकर वह एक नुक्कड़ नाटक के समूह ” जन नाट्य मंच ” में शामिल हो गए ,और जगह -जगह नुक्कड़ नाटकों में भाग लेने लगे . उन्होंने भारत में अंतर्राष्ट्रीय फिल्म सामारोह में भाग लिया और मात्र 10 दिनों में 55 से अधिक फिल्में देखी . जिसके चलते वह ” वित्तोरियो दे सिका “की बाइसिकल थिव्स से काफी प्रेरित हुए और उन्होंने फिल्में बनाने का मन बनाया . जिसके चलते केवल 500 हजार रुपये लेकर घर छोड़कर मुंबई के लिए निकल गए .

फिल्म निर्देशन –

अनुराग कश्यप ने अपने शुरुआती दिनों में टी वी नाटकों के लिए अपना लेखन कार्य शुरु किया. अनुराग के फ़िल्मी करियर में बड़ा मोड़ तब आया जब अभिनेता मनोज वाजपेयी ने उन्हें ,फिल्म निर्देशक राम गोपल वर्मा के लिए एक फिल्म की पटकथा लिखने की पेशकश की जिसका शीर्षक था  “सत्या ” .
अनुराग कश्यप के निर्देशन की पहली फिल्म साल 2000 में आई  ” पांच ” थी  जो कि अपने हिंसक चित्रण के किरण विवादों में रही . साल 2007 में आई ब्लैक फ्राइडे उनके निर्देशन की दूसरी फिल्म थी . यह फिल्म पटकथा लेखक हुसैन जैदी द्वारा लिखित एक किताब पर आधारित थी  . इस फिल्म की काफी सराहना हुई . 2012 में आयी फिल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर ने नया कीर्तिमान बनाया . फिल्म के अभिनेता मनोज वाजपेयी थे . यह फिल्म एक सच्ची घटना पर आधारित थी  . इस फिल्म ने अनुराग कश्यप के निर्देशन को धार देने का काम किया .

निजी जीवन – 

अनुराग कश्यप ने अपनी पहली शादी फिल्म पांच के निर्देशन के एक साल बाद 2003 में आरती बजाज के साथ की कुछ समय बाद इस विवाहित जोड़े ने एक बेटी को जन्म दिया . आपसी विवाद के चलते दोनों ने अलग रहने का फैसला किया और दोनों ने 2009 में तलाक ले लिया .
अनुराग कश्यप ने अपनी दूसरी शादी अभिनेत्री कल्कि कोचलिन से 2013 में की . अनुराग की दूसरी शादी भी ज्यादा दिन नही चली और दोनों ने अलग होने की घोषणा की ,मई 2015 में दोनों ने मुंबई के बांद्रा कोर्ट में तलाक ले लिया .

अनुराग कश्यप के निर्देशन मेन बनी मुख्य फिल्में –

2003    –  पांच , अभी तक रिलीज नहीं हुई .
2007    –  ब्लैक फ्राइडे .
2007    –  नो स्मोकिंग .
2007    –  रिटर्न ऑफ़ हनुमान .
2009    –   गुलाल  .
2010    –  उड़ान  .
2010    –  मुंबई कटिंग .
2011    –  दैट गर्ल इन येलो बूट्स .
2012    –  गैंग्स ऑफ़ वासेपुर .
2012    –  गैंग्स ऑफ़ वासेपुर 2 .
2013    –   बॉम्बे वेलवेट .
2013    –   बॉम्बे टॉकीज .
2015    –   दोगा .

अनुराग कश्यप के बारे में रोचक जानकारी- 

  • अनुराग कश्यप स्कूल के दिनों में वैज्ञानिक बनना चाहते थे .
  • अपने करियर के शुरुआती दिनों में ,वह कुछ दिनों तक सड़को पर लगे बेचों पर सोए .
  • अनुराग कश्यप ने एक अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के दौरान मात्र 10 दिनों में 55 से अधिक फिल्मे देखी .
  • अनुराग ने पृथ्वी थिएटर में पहली नौकरी की , लेकिन निर्देशन की अचानक मौत के कारण उनका पहला नाटक अधूरा रह गया .
  • अनुराग कश्यप के निर्देशन में बनी पहली फिल्म पांच युवाओं के हिंसक चित्रण के कारण विवादों में रही और आज तक रिलीज नही हुई .
  • साल 2007 में बनी फिल्म  ” ब्लैक फ्राइडे ” संवेदनशील मुद्दे के कारण विवादों में रही .
  • युवाओं के नशे की गिरफ्त में आने पर बनी फिल्म ” उड़ता पंजाब” भघ काफी विवादों में रही .
  • साल 2009 में ,उन्होंने अपनी फिल्म प्रोडक्शन कंपनी  ” अनुराग कश्यप फिल्म प्राइवेट लिमिटेड ” की स्थापना की .
  • फिल्म  ”  स्लमडॉग मिलियनेयर ” के कुछ दृश्यों को अनुराग कश्यप ने रुपांंतरित किया है .

Leave a Reply