लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद न करें ये पांच काम .

चीन के वुहान शहर से शुरु हुआ कोरोना वायरस की वजह से पूरी दुनिया रुक गई है . अब हालात ऐसे है है कि हर कोई लॉकडाउन के ख़त्म होने का इंतजार कर रहा है . जहां एक ओर लोग काम धंधे से परेशान हैं वही दूसरी ओर सरकार भी असमंजस में है कि आखिर क्या किया जाए . सभी चाहते है कि इस कोरोना वायरस का अंत हो और जिंदगी फिर से पटरी पर आ जाए . आज हम उन सब चीजों को मिस कर रहे हैं जिनसे हम कभी परेशान थे . क़्वारेंटिइन में रहते रहते हर इंसान चाहता है कि अब यह लॉकडाउन ख़त्म हो . लेकिन लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद जिंदगी में हम बेपरवाह हो जाएंगे नही बल्कि ,लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद जिम्मेदारी और बढ़ जाती है .
हम उन आदतों को तब तक नहीं छोड़ सकते हैं जब तक सरकार पूर्ण रूप से ऐलान ना कर दे कि अब कोविड-19 का खतरा नही है और देश में एक भी संक्रमित व्यक्ति कोविड-19 का नही है.

लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद नही करने है ये पांच काम –

सरकार की तरफ से लॉकडाउन में छूट देने या लॉकडाउन ख़त्म करने का यह मतलब नहीं है कि कोविड-19 जैसी खतरनाक बीमारी अब नही रही . सरकार की आर्थिक मजबूरी और लोगों की बढ़ती समस्या के कारण ,लॉकडाउन में छूट या लॉकडाउन को ख़त्म करने जैसे फैसले ले सकती है . इसलिए लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद भी आपको ये पांच सावधानियां बरतनी होगी. जैसा की आप लोग जानते हैं चीन से शुरु हुआ कोविड-19 की अभी तक कोई भी दवा उपलब्ध नहीं है केवल सावधानियां ही इस खतरनाक बीमारी का बचाव है .

(1) हाथ धोने की आदत को बनाए रखे –

जैसा कि हम सभी जानते हैं प्रत्येक छोटी बड़ी बीमारी सही से हाथ ना धोने की वजह से सबसे अधिक फैलती है . कोविड -19 के बारे में भी यही बात लागू होती है . इसलिए WHO और सरकार की तरफ से दिशा निर्देश जारी किए गए कि हर 2-3 घंटे में हाथ धोते रहना है . कही ऐसा ना हो कि लॉकडाउन ख़त्म होते ही ,हाथ धोने की आदत छूट जाए . लॉकडाउन में छूट का मतलब यह है कि इस खतरनाक वायरस की फैलने की रफ़्तार कम हो चुकी हैं और लोगों की परेशानी को ध्यान में रखकर यह छूट दी जा रही है .  इसलिए इस वायरस से बचने के लिए साबुन और पानी से हाथों को पहले की तरह ही धोते रहना होगा .

मास्क का प्रयोग करते रहें –

लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद भी कोविड -19 से संक्रमित होने का उतना ही खतरा है जितना पहले था . इसलिए ये खुद हमारी जिम्मेदारी है कि वगैर मतलब केवल सैर सपाटे के लिए घर से बहार ना निकले .जैसा हम सब जानते है कि कोविड-19 छूने ,बात करने ,खांसने ,छींकने से फैलता है, इसलिए  अगर किसी जरुरी काम के लिए घर से बहार जाना भी पड़ रहा है तो पहले की ही तरह फेस मास्क का प्रयोग जरुर करें .

भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचे –

लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद सोशल डिस्टेंसिग को बनाए रखना है . कही ऐसा ना हो कि लॉकडाउन ख़त्म होने की खुशी में पार्टी शुरु हो जाए . कोविड-19 से बचाव में सोशल डिस्टेंसिग बेहद जरूरी है . इसलिए भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना होगा .

बेवजह यात्रा ना करें –

कोविड -19 के मामले में देश के हर राज्य और राज्य के हर जिले की स्थिति अलग अलग है . इसलिए लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद बेवजह की यात्रा और सैर सपाटे से बचना होगा . सैर सपाटे की वजह यात्रा के दौरान अनजान और अनगिनत लोगों के सम्पर्क में आने से कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बना रहेगा . 

बुजुर्गों का रखे खास ख्याल –

लॉकडाउन के ख़त्म होने के बाद भी अपने घर के बुजुर्गों का ध्यान पहले की ही तरह रखना होगा . क्योंंकि कोविड -19 का सबसे अधिक संक्रमण का खतरा बुजुर्गों को ही है  . ऐसा ना हो कि लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद अपनी अपनी जिंदगी में व्यस्त हो जाए और बुजुर्गों का ध्यान ही न रहें . और बुजुर्गों को जरुरत के समान के लिए बहार निकलन पड़े . ऐसे मेंं कोरोना वायरस का खतरा बढ़ जाएगा . जब भी बहार से घर पर आए तो हाथ मुंह धोकर ही अपने घर के बुजुर्गों से मिले और अपनी और अपने परिवार को संक्रमण से दूर रखे .

Leave a Reply