Abraham Lincoln Best Quotes;अब्राहम लिंकन के अनमोल विचार .

अब्राहम लिंकन अमेरिकी इतिहास का एक महत्वपूर्ण नाम है इस नाम के बगैर अमेरिकी इतिहास की कल्पना नही की जा सकती है .अब्राहम लिंकन 1860 में अमेरिका के राष्ट्रपति बने . इन्होंने ना केवल अमेरिका को सबसे बड़े संकट गृहयुद्ध से बचाया साथ ही दशकों से चली आ रही अश्वेतों को दास प्रथा से मुक्त कराया तथा अधुनिक अमेरिका के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दिया .

ये उनकी मेहनत और लगन का ही परिणाम था की दो बार सीनेट के चुनाव में असफल रहने के बाद भी वह अमेरिका के राष्ट्रपति बने .

आइए जानते हैं अमेरिका के महान राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के अनमोल विचारों के बारे में.

                   

         

  • मैं जो भी हूं , या होने की आशा रखता हूँ, उसका श्रेय मेरी मां जाता है .

                                                            अब्राहम लिंकन .

  • हमेशा ध्यान में रखिये की आपका सफल होने का संकल्प किसी भी और संकल्प से ज्यादा महत्वपूर्ण है 

                                                             अब्राहम लिंकन .

  • शत्रुओं को मित्र बना कर क्या में उन्हें नष्ट नहीं कर रहा हूँ .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • मित्र वो है जिसके शत्रु वही हैं जो आपके शत्रु है .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे छ: घंटे दीजिए और मैं पहले चार घंटे कुल्हाड़ी की धार तेज करने मैं लगाऊंंगा .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • यदि आप एक बार अपने साथी नागरिकों का भरोसा तोड़ दें, तो आप फिर कभी उनका सत्कार और सम्मन नहीं पा सकेंगे .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • आपकी सफलता के लिए आपका संकल्प ही मायने रखता है ,इसके अलावा कोई और चीज नही .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • आप जीवन में जो भी हो लेकिन हमेशा एक अच्छे इंसान बनने की कोशिश करें.

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • खुश रहने का एक मात्र तरीका है दिमाग से खुद को खुश मान लेना है .

                                                              अब्राहम लिंकन .

  • अपने कितना जीवन जिया यह मायने नही रखता , आपने जीवन किस प्रकार जिया यह मायने रखता है .

                                                              अब्राहम लिंकन .

    जीवन में असफलता से कभी नही डरना चाहिए . हर तरफ रास्ते बंद होने के बाद भी जीवन में कुछ ना कुछ रास्ता निकल ही आता है । इस दुनिया में केवल वही लोग सफल होते हैं जो असफलता से डर कर अपना रास्ता नहीं बदलते . मार्ग में आने वाली कठिनाईयों से डर कर वापस जाने से अच्छा है कठिनाइयों का सामना करते हुए आगे बढ़ जाना .

    • औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससे मैं ये जानते हुए भी की वो मुझे चोट नहीं पहंचाएगी , डरता हूँ.

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • प्रजातंत्र लोगों की ,लोगों के द्वारा , और लोगों के लिए बनायी गयी सरकार है .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • अगर कुत्ते की पूंछ को पैर कहें ,तो कुत्ते के कितने पैर हुए ? चार पूछ को पैर कहने से वो पैर नहीं हो जाती है .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • साधारण दिखने वाले लोग ही दुनिया के सबसे अच्छे लोग होते हैं यही वजह है कि भगवान ऐसे बहुत से लोगों का निर्माण करता है .

                                                                 अब्राहम लिंकन .

    • यदि कोई व्यक्ति किसी कार्य को अच्छे से कर सकता है तो उसे उस कार्य को करने का मौका जरुर दीजिये .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • झूठ बोलने वालों की कोई स्मरण शक्ति नहीं होती है .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • भले ही धीमी गति से चलों लेकिन रुको मत चलते रहो और कभी वापस मत लौटो .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • यदि आपको सीधे खड़े रहना है तो पहले  सुनिश्चित कर ले आपके पैर सही जगह पर हैंं .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • कल पर टालकर अपनी जिम्मेदारियोंं से छुटकारा नहींं पा सकते हो .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

    • अपने कितना जीवन जिया यह मायने नही रखता आपने जीवन किस प्रकार जिया ये मायने रखता है .

                                                                  अब्राहम लिंकन .

      सफलता और ईमानदारी की राह पर चलते हुए अमेरिकी के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बनने का नाम ही अब्राहम लिंकन है . अब्राहम लिंकन ने अपना पूरा जीवन बेहद ईमानदारी के साथ व्यतीत किया . जब वे वकील के पेशे में थे तब एक बार एक  क्लाइंट ने उनको उनकी फीस के लिए 25 डॉलर भेजे उन्होंने उसको 15 डॉलर यह कहते हुए वापस लौटा दिया कि इस काम के लिए 10 डॉलर काफी हैं . इसी ईमानदारी की राह पर चलते हुए1860 में अमेरिका के राष्ट्रपति बने .

      Leave a Reply