Bhagat Singh Thoughts & Quotes in Hindi ; शहीद भगत सिंह के उच्च विचार .

भारत के वीर सपूत महान स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह , जिन्होंने मात्र 23 वर्ष की आयु में देश के लिए अपने प्राणोंं का बलिदान दे दिया . देश सेवा के जज्बे की खातिर भगत सिंह ने विधान सभा में वगैर किसी को नुकसान पहुंचाते हुए बम धमाका किया . क्रन्तिकारी भगत सिंह के लिए देश सेवा से बढ़कर कोई धर्म नही था . शहीद भगत सिंह के क्रांतिकारी विचार हर युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं जिन्हें पढ़ने के बाद ,युवाओं का रोम – रोम देशभक्ति की भावना से भर जाता है . 

आइए जानते हैं भारत के महान क्रांतिकारी शहीद -ए- आजम भगत सिंह के क्रांतिकारी विचार .

           

            

1- ” लोग अक्सर देश भक्त को पागल समझते हैं .” 

                                                            शहीद भगत सिंह.

2- ” जिंदगी अपने दम पर जी जाती है, दूसरों के कंधोंं पर तो जनाजे उठते हैं . ” 

                                                            शहीद भगत सिंह .

3- ” प्रेमी ,पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं.”

                                                          शहीद भगत सिंह .

4- ” शाख का हर कण मेरी गर्मी से गतिमान है . मैं एक ऐसा पागल हूँ जो जेल मेऔ भी आजाद है .

                                                          शहीद भगत सिंह.

5 – ” गरीब होना दुनिया का सबसे बड़ा पाप है , यह एक अभिशाप है , यह एक सजा है .” 

                                                          शहीद भगत सिंह .

6 – ” कानून की पवित्रता तभी तक है जब तक वे लोगों की इच्छाओंं की अभिव्यक्ति को अनदेखा न करें. ” 

                                                           शहीद भगत सिंह .

7 – ” स्वतंत्रता हर इंसान का कभी न ख़त्म होने वाला जन्म सिद्ध अधिकार है .” 

                                                          शहीद भगत सिंह.

8 – ” यदि बहरों को सुनना है तो आवाज बहुत जोरदार होनी चाहिए . हमने उन पर बम गिराया था उन्हें यह आवाज सुनानी थी कि अंग्रेजों को भारत छोड़ना चाहिए .” 

                                                         शहीद भगत सिंह .

9 – ” व्यक्तियों को कुचला जा सकता है ,उनके विचारों को कभी नहीं कुचला जा सकता .” 

                                                          शहीद भगत सिंह .

10 – ” क्रांति की तलवारें तो सिर्फ विचारों की शान से तेज की जाती है . ” 

                                                           शहीद भगत सिंह .

11 – ” मेरा एक ही धर्म है , देश सेवा करना .” 

                                                           शहीद भगत सिंह .

12 – ” मैं अभी भी किसी भी बचाव की पेशकश के पक्ष में नहीं हूँ . यह तक कि अगर अदालत ने मेरे सह – अभियुक्तों द्वारा बचाव , आदि के बारे में प्रस्तुत की गई यचिका को स्वीकार कर लिया है ,तो मैंने अपना बचाव नहीं किया .” 

                                                        शहीद भगत सिंह .

13 – ” आमतौर पर लोग , चीजें जिस प्रकार से हो रही हैं उसके आदी हो जाते हैं और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते हैं हमें निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना में बदलना है.” 

                                                         शहीद भगत सिंह.

14 – ” निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार , ये दोनों ही क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण है .” 

                                                           शहीद भगत सिंह.

15 – ” यह शादी करने का उचित समय नहीं है . मेरा देश मुझे बुला रहा है; मैंने अपने दिल आत्मा के साथ देश सेवा की एक प्रतिज्ञा ली है . ” 

                                                          शहीद भगत सिंह .

16 – ” मैं एक आम आदमी हूँ  और जो भी मानवता को प्रभावित करता है मुझे उससे मतलब है  .”

                                                          शहीद भगत सिंह.

17 – ” मुझे खुद को बचाने की कोई इच्छा नही थी और मैंने कभी भी इसके बारे में गंभीरता से नहीं सोचा . ” 

                                                             शहीद भगत सिंह.

18 – ” वो हर व्यक्ति जो विकास के लिए खड़ा है उसे हर एक रुढिवादी चीज की आलोचना करनी होगी , उसके प्रति अविश्वास करना होगा और उसे चुनौती देनी होगी.” 

                                                          शहीद भगत सिंह .

19 – ” हमे यह स्पष्ट करना होगा कि क्रांति का मतलब केवल उथल – पुथल या एक हिंसक संघर्ष नहीं है .” 

                                                         शहीद भगत सिंह .

20 – ” अगर धर्म को अलग कर दिया जाए तो राजनीति पर हम सब एक साथ इकट्ठे हो सकते है . धर्मों में हम चाहे अलग अलग ही रहें . ” 

                                                        शहीद भगत सिंह .

शहीद – ए – आजम भगत सिंह के यह कुछ  चुनिंदा विचार आपको कैसे लगे हमे जरूर बताए साथ ही अपने दोस्तों को भी शेयर करें .

Leave a Reply