चे ग्वेरा के क्रांतिकारी अनमोल विचार ; Che Guevara Thoughts In Hindi .

जिस तरह भारत में भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद और अन्य क्रांतिकारियोंं को प्रमुखता से जाना जाता है उसी तरह से चे ग्वेरा लैटिन अमेरिका, क्यूबा और कई देशों में जाना जाता है . डॉक्टर से क्रांतिकारी बने चे ग्वेरा को क्यूबा के बच्चे बच्चे जानते हैं तथा भगवान की तरह पूजते हैं . 

आइए जानते हैं चे ग्वेरा के क्रांतिकारी विचारों के बारे में .

        

                  

1 – ” घुटनों के बल जीने के बजाय में खड़ा होकर मरना पसंद करूंगा .”

                                                         Che Guevara.

2- ” यदि तुम्हें अन्याय को देखकर गुस्सा आता है, तो तुम मेरे कॉमरेड हो ..”

                                                          Che Guevara.

3 – ” क्रांति कोई ऐसा फल नही है जो खुद व खुद जमीन पर आ गिरता है , इस फल को जमीन पर गिराने के लिए हमे खुद मेहनत करनी पड़ती है .”

                                                           Che Guevara .

4  – ” हर एक सच्चा क्रांतिकारी वास्तव में गहन प्रेम की भावना से संचालित होता है .”

                                                           Che Guevara .

5 – ” क्या तुम अपनी अमरता के बारे में सोच रहे हो ? ( हत्या के कुछ मिनट पहले , बोलिवियन सैनिक ने Che Guevara से पूछा ) ” नहीं में क्रांति की अमरता के बारे में सोच रहा हूँ , चे ग्वेरा ने जवाब दिया .”

                                                          Che Guevara .

6 – ” कोई पैदाइसी क्रांतिकारी नहीं होता, संघर्षों में तपकर ही क्रांतिकारी बनता है . वह हालात को बदलने के लिए संघर्ष करता है , सबको जोड़ता है और इस प्रक्रिया में खुद भी बदल जाता है. संघर्ष की आंच रत्ती रत्ती कर उसमें ऐसा ओज भर देती है , जो पहले कहीं था ही नही .”

                                                          Che Guevara.

 7 – ” अगर आपकी राह में कोई रोड़ा नही , तै शायद वो राह कही नही जाएगी .”

                                                           Che Guevara .

8 – ” जिसे मौत का डर नहींं , उसके लिए कोई भी काम नामुमकिन नहीं .”

                                                          Che Guevara.

9 – ” मैं कोई आजादी दिलाने वाला नही . आजादी दिलाने वाला कोई नहीं होता , लोग खुद आजाद होते है . “

                                                          Che Guevara.

10 – ” बहुत से लोग मुझे दिलेर कहेंगे . मैं हूँ …सिर्फ मैं अपनी तरह का एक दम अलग । एक जो अपने सच को सही साबित करने के लिए अपनी जान भी खतरे में डाल सकता है .” 

                                                          Che Guevara.

11 – ” तुम मुझे मार सकते हो मेरे विचारों को नहीं .” 

                                                          Che Guevara  .

12 – ” अगर आप हर गलत बात पर गुस्से से कांपने लगते हैं तब आप मेरे साथी है .”

                                                          Che Guevara.

13- ” क्रूर नेताओं  द्वारा अपनी जगह नए नेताओं को भी क्रूर बनाया जाता है.”

                                                          Che Guevara.

14- ” मेरी एक इच्छा है . डर के रुप में – मेरा अंत ही मेरी शुरुआत होगा.”

                                                         Che Guevara.

15- ” अन्य साधनों के द्वारा किए गए मौन तर्क हैं .”

                                                          Che Guevara.

इन्हें भी पढ़े –

आज की युवा शक्ति भगत सिंह , चंद्रशेखर आजाद , चे ग्वेरा जैसे क्रांतिकारियोंं से प्रेरणा लेकर अपने भविष्य को सफल बना सकते है , .

Leave a Reply