Arundhati Roy Best Quotes ; अरुंधति रॉय के विचार.

 सुजेना अरुंधति रॉय का जन्म 24 नवबंर 1961 में शिलौंग , में हुआ था . Arundhati Roy भारत की मशहूर और चर्चित लेखिका है तथा 1997 में बुकर पुरस्कार से सम्मानित है . Arundhati Roy लेखन के अलावा समाजसेवा में भी काफी रुचि रखती है . Arundhati Roy ने कुछ फिल्मों में भी काम किया है. Arundhati Roy ने नर्मदा बचाओ आंदोलन समेत भारत के दूसरे प्रमुख जनांदोलनों में भी हिस्सा लिया है  ।

आईए जानते हैं बुकर पुरस्कार से सम्मानित भारत की चर्चित लेखिका  Arundhati Roy के विचारों के बारे में .

1- ” जब भी लिखो तो सुसाइड बॉम्बर की तरह लिखो , जिसकी गूंज देर तक सुनाई दे .”

Arundhati Roy.

2- ” चीजे एक दिन में बदल सकती हैं .”

Arundhati Roy.

3- ” इंसान आदत का प्राणी है , और किस तरह की चीजे उपयोग की जा सकती हैं यह आश्चर्यजनक है .”

Arundhati Roy.

4 – ” वास्तव में ‘ वॉयसलेस ‘ जैसी कोई चीज नहीं है . केवल जानबूझकर चुप कर दिया जाता है , या अनसुना कर दिया जाता है.”

Arundhati Roy.

5 – ” मेरे लिए किसी को हिंसा का उपदेश देना अनैतिक होगा , जब तक मैं खुद हिंसा पर उतारु नहीं हो जाती .”

Arundhati Roy .

6 – ” अमेरिका का जीवन के बारे में टिकाऊ नहीं है . यह स्वीकार ही नही करता कि अमेरिका के बाहर भी एक दुनिया है .”

Arundhati Roy.

7 – ” आपके कहे गए लापरवाह शब्द है . जो लोगों को आपसे प्यार करने से रोकते हैं.”

Arundhati Roy.

8 – ” यदि आप एक सपने में खुश हैं , तो वह संख्या नहीं है .”

Arundhati Roy.

9 – ” अज्ञात डॉक्टरों की तरह परिवारों में यह परेशानी है कि उन्हें नही पता कि कहां दु:ख है .”

Arundhati Roy.

10 – ” हम सब एक पागल खाने में घूम रहें हैं .”

Arundhati Roy.

11 – ” जिस तरह से उसका शरीर केवल उसी जगह पर मौजूद था जहां उसने छुआ था . उसका बाकी हिस्सा धुंआ था .”

Arundhati Roy.

12 – ” एक और दुनिया संभव ही नही है , एक शांत दिन के साथ वे अपने रास्ते पर है . मैं उसकी सांस सुन सकती हूं .”

Arundhati Roy.

13 – ” उसने अपने डर को एक आदर्श गुलाब में बझल दिया . उसने उसे अपने हाथ की हथेली में पकड़ लिया और उसे अपने बालों में लगा लिया .”

Arundhati Roy.

14 – ” मुझे लगता है कि मैं काफी बड़ा बच्चा था , और एक बहुत ही बचकाना वयस्क था .”

Arundhati Roy.

15 – ” परिवर्तन एक बात है . स्वीकृति एक और है .”

Arundhati Roy.

16 – ” कुछ चीजे स्वयं दंड के साथ आती हैं .”

Arundhati Roy.

17 – ” जब आप लोगों को चोट पहुंचाते हैं तो आपका प्यार कम होने लगता है . यही लापरवाह शब्द है .”

Arundhati Roy .

18 – ” एक युद्ध, जो हमारे विजेता को पसंद करता है और खुद को तुच्छ समझता है .”

Arundhati Roy

इन्हें भी पढ़े –

भारत की चर्चित लेखिका Arundhati Roy के विचार अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें.

धन्यवाद .

Leave a Reply